Mumbai News : मुंबई में फर्जी दस्तावेज के जरिए 2000 रुपये में बन रहे थे आधार कार्ड, क्राइम ब्रांच ने 3 को धर दबोचा

Date: 2024-01-19
news-banner
मुंबई, 18 जनवरी। फर्जी दस्तावेज पर आधार कार्ड बनाने का मामला सामने आया है। क्राइम ब्रांच की यूनिट-6 ने गोवंडी में दो आधार सेंटर पर रेड डाली। डीसीपी राज तिलक रौशन ने गुरुवार को बताया कि हमने तीन आरोपियों मेहफूज खान, रेहान खान और अमन पांडेय को गिरफ्तार किया है। मेहफूज और अमन आधार सेंटर के मालिक थे।
यह दोनों आधार सेंटर सरकार की परमिशन लेकर ही चल रहे थे। दोनों ही सेंटर पर रोज 30 से 40 आधार कार्ड बनते थे। पिछले कुछ महीनों में यहां करीब 4000 आधार कार्ड बने। क्राइम ब्रांच को शक है कि इनमें से करीब 40 प्रतिशत आधार कार्ड फर्जी दस्तावेज पर बनाए गए। दोनों ही आधार सेंटर से लैपटॉप, प्रिंटर और मोबाइल जब्त किए गए हैं।
फर्जी दस्तावेज के एवज में लेते थे इतना पैसा
सीनियर इंस्पेक्टर रवींद्र सालुंखे ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी आधार कार्ड के लिए जरूरी बर्थ सर्टिफिकेट, एफिडेविट और बिजली के बिल फर्जी बनाते थे। फिर इन्हें सिस्टम में स्कैन कर फर्जी दस्तावेज पर आधार कार्ड बनाते थे। इसके लिए आरोपी 1400 से 2000 रुपये लेते थे।
जब्त लैपटॉप्स से सारी डिटेल निकाल रही पुलिस
अब क्राइम ब्रांच जब्त लैपटॉप्स से सारी डिटेल निकाल रही है। जिस महानगरपालिका या नगरपालिका के बर्थ सर्टिफिकेट हैं, वहां जाकर इन सभी को वेरिफाई किया जाएगा। जिन वकीलों के जरिए एफिडेविट बनवाए गए, उनसे भी पूछताछ की जाएगी।

पुलिस ने ऐसे दबोचा

क्राइम ब्रांच के एक अधिकारी के अनुसार, हमने इस रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए दोनों ही आधार सेंटर में डमी लोग भेजे। ऑरिजनल डाक्यूमेंट्स न होने की मजबूरी बताई। सामने वाले की तरफ से जब कहा गया कि हम डॉक्यूमेंट्स बना देंगे और उसके लिए अधिक पैसे लगेंगे, तब क्राइम ब्रांच ने आरोपियों को गिरफ्त में लिया।

Share It On:

image

Leave Your Comments