रायपुर / कांग्रेस प्रभारी पुनिया का PM मोदी पर हमला, आरक्षण को लेकर कही ये बातें...

कांग्रेस प्रभारी पुनिया का PM मोदी पर हमला, आरक्षण को लेकर कही ये बातें...

रायपुर, 13 फरवरी कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने शुक्रवार को राजधानी रायपुर स्थित कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में अनुसूचित जाति-जनजाति आरक्षण में संशोधन अधिनियम के विषय में एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान पुनिया ने कहा कि संशोधित आरक्षण अधिनियम के जरिए भाजपा सरकार देश के आदिवासियों और पिछड़ों के तरक्की करने का अधिकार छीन रही है। इस दौरान उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भी तीखे जुबानी हमले किए।

पुनिया ने कहा- जब पहली बार प्रधानमंत्री बने थे, तब संसद में सीढ़ियों पर मत्था टेककर प्रवेश किया था। अब उसी संसद का अपमान करने वाले कानून पास करवा रहे हैं। नाथूराम गोडसे ने भी इसी तरह पहले गांधी जी के पैर छुए फिर उनको गोली मार दी। यह इनकी संस्कृति है। केंद्र सरकार और भाजपा आरक्षण खत्म करना चाहती है।

भाजपा एसटी एससी और ओबीसी आरक्षण को लेकर कुठाराघात करना चाहती है। भाजपा आरक्षण का खुलकर विरोध कर रही है। फैसले के पैराग्राफ 8 और 12 में भी इसका उल्लेख है। यह कहा गया है कि एसटी-एससी-ओबीसी आरक्षण कोई वैधानिक अधिकार नहीं है। राज्यों का भी वैधानिक उत्तरदायित्व नहीं है। यह सरकार के विवेक पर निर्भर करता है कि वह किसी वर्ग को आरक्षण दे या नहीं दे।

पुनिया ने कहा- यह कोई सोच नहीं सकता कि आरक्षण को लेकर भाजपा की यह सोच है। सामाजिक और आर्थिक विषमता हमारे लिए बड़ी चुनौती है, आज भी यह विषमता हमारे बीच मौजूद है। हमारे सामाजिक परिवेश में वंचित लोगों को बराबर में लाने के लिए आरक्षण की व्यवस्था की।

गैरबराबरी खत्म होने तक आरक्षण की व्यवस्था की गई थी, लेकिन अब तक समाज में गैरबराबथी खत्म नहीं हुई। फैसले के खिलाफ पुनर्विचार याचिका दायर करेंगे, लेकिन हमने मांग की है कि इसके लिए कानून लाया जाना चाहिए।

आरक्षण के मामले पर कांग्रेस अपना पक्ष प्रेस कांफ्रेंस के माध्यम से रख रही है। अब जिलों में भी पक्ष रखा जाएगा। छत्तीसगढ़ इस मामले में सौभाग्यशाली है कि यहां एट्रोसिटी की कोई घटनाएं नहीं होतीं। आरएसएस और भाजपा लगातार आरक्षण के विरोध में बयान देती रही है, लगातार विरोध करती रही है।

बता दें कि कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी इन दिनों अपने-अपने प्रभार वाले प्रदेशों में 12 से 14 फरवरी के बीच आरक्षण को लेकर प्रेस कांफ्रेंस कर रहे हैं। इस दौरान पीसीसी चीफ मोहन मरकाम और आईआईसी के प्रभारी सचिव चंदन यादव सहित कांग्रेस के अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद थे।