खेल / सात साल के बैन के बाद Sreesanth खेलेंगे अब नई पारी

सात साल के बैन के बाद Sreesanth खेलेंगे अब नई पारी

नई दिल्ली, 19 सितंबर। भारतीय क्रिकेट टीम के तेज गेंदबाज श्रीसंत पर शुरुआती दौर में ही प्रतिबंध लगा दिया गया था. ये आजीवन प्रतिबंध एस श्रीसंत के मैच फिक्सिंग में पकड़े जाने के कारण लगाया गया था. वहीं अगर किसी खिलाड़ी के शुरुआती दौर में ही प्रतिबंध लगा दिया जाए तो उसका करियर दांव पर लग जाता है. बता दें कि कथित तौर पर स्पॉट फिक्सिंग करने के कारण आजीवन प्रतिबंध अब 13 सितंबर को समाप्त हो गया है. बता दें कि अपने करियर को दांव पर लगा देखकर 37 साल के S. Sreesanth परेशान थे. जिसपर अपने ऊपर लगे प्रतिबंध के खिलाप जंग लड़ी और इस प्रतिबंध को आजीवन से कम करवाकर 7 साल कर दिया था. जिसके आधार पर अब 13 सितंबर को ये 7 साल का प्रतिबंद समाप्त हो गया है. इस प्रतिबंध को भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के लोकपाल ने हटाया था. बताते चलें कि Sreesanth ने ट्वीट कर लिखा कि, "मैं अपनी हर गेंद पर अपना सर्वश्रेष्ठ दूंगा. यहां तक कि यह सिर्फ अभ्यास है. मेरे पास अभी और 5 से 7 साल का अधिकतम समय मिला है. मुझे यह सब मिला है और मैं जिस भी टीम के साथ खेलूंगा अपना सबसे अच्छा और बेस्ट दूंगा, साथ ही हिस्सा भी लूंगा. विनम्र अनुभव." वहीं एक और ट्वीट कर उन्होंने कहा कि, "मैं कभी भी क्रिकेट को धोखा नहीं दूंगा, यहां तक कि जब मैं एक फ्रैंडली मैच खेल रहा हूं..मैं आसानी से गेंद नहीं खेलता या ढील देने की कोशिश करता हूं..तो प्लीज सबके साथ सही हो..मैं पूरी तरह से किसी भी आरोप से मुक्त हूं. और कुछ भी और अब मैं जिस खेल को सबसे ज्यादा प्यार करता हूं, उसका प्रतिनिधित्व करता हूं..मैं अपना बहुत अच्छा करूंगा.” आपको बता दें कि अब वे अपने घरेलू राज्य केरल से खेलेंगे और अपने करियर का शुभारंभ करेंगे. वहीं, उनके घरेलू राज्य केरल ने वादा किया है कि अगर यह तेज गेंदबाज अपनी फिटनेस साबित कर दे तो वे उसके नाम पर विचार करेंगे. लेकिन, हर बार घरेलू सत्र अगस्त में शुरु होता था. इस बार ये कोरोना महामारी के कारण देरी से शुरु होगा.